Chaitra Navratri 2021 Date – Navratri Kab Shuru Hai

Chaitra Navratri 2021 Date

चैत्र नवरात्रि 2021 में कब शुरू होगी और कब समाप्त होंगे ? – Chaitra Navratri 2021 Date – Navratri Kab Shuru Hai और कलश स्थापना करने का शुभ मुहूर्त क्या रहेगा ? नवरात्र को हिंदू धर्म के प्रमुख पर्वो में से एक माना जाता है जिसे पूरे देश में बहुत ही श्रद्धा और उल्लास के साथ मनाया जाता है. साल में चार नवरात्रि होते हैं जिनमें से दो गुप्त नवरात्र और तीसरे चैत्र नवरात्र तथा चौथा नवरात्र शारदी नवरात्र होता है. नौ रूपों वाला यह पर्व मां दुर्गा और उनके…

Holika Dahan ki Katha

Holika Dahan ki Katha

इस वर्ष होली (Holika Dahan ki Katha ) का त्योहार फागुन मास की पूर्णिमा तिथि यानी 28 मार्च 2021 को मनाया जाएगा होलिका दहन का शुभ मुहूर्त होगा 6:00 बज 6:37 से 8:56 तक. होलिका दहन की प्रचलित कथा के अनुसार प्राचीन काल में हिरण्यकश्यप नाम का अत्याचारी राक्षस राज ने तपस्या कर ब्रह्मा जी से एक वरदान प्राप्त कर लिया कि संसार का कोई भी जीव जन्तु पशु पक्षी मानव अथवा देवता राक्षस उसे मार ना सके ना वो रात में मरे ना दिन में ना पृथ्वी ना ही…

Mallikarjuna jyotirlinga in hindi

mallikarjuna jyotirlinga in hindi

Mallikarjuna jyotirlinga in hindi मल्लिका अर्जुन शिव पुराण के अनुसार भगवान शिव का दूसरा ज्योतिर्लिंग है है शिव पुराण में वर्णित कथा के अनुसार भगवान शिव और माता पार्वती के मन में यह विचार आया कि उन्हें अपने दोनों पुत्रों का विवाह कर देना चाहिए अतः अपने दोनो पुत्रो को अपने पास बुलाया और उनसे बोले तुम दोनों में से जो भी संपूर्ण संसार का परिक्रमा लगाकर आएगा उसका पहले विवाह किया जाएगा के कार्तिकेय अपनी सवारी मोर पर सवार हो परिक्रमा के लिए निकले गए चूकी गणेश जी को…

Omkareshwar mahadev Jyotirlinga

Omkareshwar mahadev Jyotirlinga

Omkareshwar mahadev Jyotirlinga ओंमकारेश्वर एक बार की बात हैं नारद मुनि शिव भक्त गण के समीप जा कर भक्ति के साथ उनकी सेवा करने लगे. इसके बाद नारद मुनि गिरिराज विंध्य के पास गए . गिरिराज विंध्य ने बड़े आदर के साथ उनका पूजन किया और बोले मेरे पास सब कुछ है यहां किसी चीज की कोई कमी नहीं है विंध्य की अभिमान भरी बातें सुनकर नारद मुनि खड़े हो गए और कोई जवाब नहीं दिया तब विंध्य बोले आपने मेरे याह कौन सी कमी नारद जी बोले यहां सब…

Ghushmeshvar jutirling ki Katha – घुश्मेश्वर ज्योतिर्लिंग की कथा

Ghushmeshvar jutirling ki Katha - घुश्मेश्वर ज्योतिर्लिंग की कथा

Ghushmeshvar jutirling ki Katha – घुश्मेश्वर ज्योतिर्लिंग की कथा घुश्मेश्वर ज्योतिर्लिंग भगवान शिव के द्वार द्वादश ज्योतिर्लिंगों में यह अंतिम ज्योतिर्लिंग है जिसका वर्णन शिवपुराण में किया गया है भगवान शिव के ज्योतिर्लिंग कुशेश्वर या गणेश्वर नाम से भी जाना जाता है महाराष्ट्र में दौलताबाद से 12 मील दूर वेरुल गांव के पास स्थित है. शिव पुराण में वर्णित कथा के अनुसार देवगिरी पर्वत के समीप सुधर्मा नाम का एक अत्यंत तेजस्वी ब्राह्मण रहा करता था उसकी पत्नी का नाम सुदेहा था वह दोनों एक दूसरे से बहुत प्रेम किया…

Rameshwaram jyotirlinga story – रामेश्वरम ज्योतिर्लिंग धाम

Rameshwaram jyotirlinga story

Rameshwaram jyotirlinga story – रामेश्वरम ज्योतिर्लिंग धाम रामेश्वर ज्योतिर्लिंग जब रावण सीता जी को हरण कर ले गया तब सुग्रीव और श्री राम वानरों के साथ सागर के किनारे चिंतित हो सागर पार करने हेतू विचार करने लगे हम समुद्र को कैसे पार करेंगे और किस प्रकार लंका को जीतेंगे उतने में ही श्री राम को प्यास लगी उन्होंने पीने हेतू जल मगाया श्रीराम ने प्रसन्न होकर जैसे ही जल लिया उन्हें स्मरण हो आया मैंने अपनी स्वामी भगवान शंकर का दर्शन किया ही नहीं ऐसा कह कर उन्होंने ऋषि…

naageshvar jyotirling kee katha – नागेश्वर ज्योतिर्लिंग

naageshvar jyotirling kee Katha

naageshvar jyotirling kee katha – नागेश्वर ज्योतिर्लिंग नागेश्वर ज्योतिर्लिंग पौराणिक काल में दारूका नाम की एक राक्षसी हुआ करती थी जो देवी पार्वती के वरदान से सदा घमंड में रहती थी उसके पति का नाम दारू था जो बड़ा ही बलवान था उसने बहुत से राक्षसों को साथ लेकर वहां के ऋषि मुनि पर अत्याचार करना शुरू कर दिया था वह लोगों की यज्ञ और धर्म को नष्ट करता करता था. पश्चिम समुद्र के तट पर उसका एक वन था जो संपूर्ण समृद्धि से भरा रहता था उस वन का…

Baba baidyanaath jyotirling devaghar dhaam Ki katha

Baba baidyanaath jyotirling devaghar dhaam Ki katha

Baba baidyanaath jyotirling devaghar dhaam Ki katha वैद्यनशेश्वर ज्योर्तिलिंग रावण ने हिमालय पर कई वर्षो तक भगवान शिव की तपस्या की किन्तु फीर भी शिव जी ने उसे अपने दर्शन नहीं दिए फीर रावण ने एक कुंड का निर्माण कर उसमें अग्नि प्रज्वलित कर दी और एक एक कर अपने शीश को काट कर कुंड में अग्नी को समर्पित करने लगा जब वह अपने अंतिम शीश को काटने जा रहा था तभी शिव जी प्रकट हुए और बोले हे दशानन मै तुमसे प्रसन्न हूं वर मांगो तब रावण ने कहा…

Tryambakeshvar jyotirling Mandir nashik

tryambakeshvar jyotirling mandir nashik

Tryambakeshvar jyotirling Mandir nashik in hindi त्र्यामकेश्वर ज्योतिर्लिंग भगवान शिव का ये ज्योतिर्लिंग महाराष्ट्र के नासिक जिले में स्थित है शिव पुराण की कोठी रूद्र संहिता में वर्णित कथा के अनुसार पौराणिक काल में गौतम नाम के एक ऋषि हुआ करते थे जिनकी पत्नी का नाम अहिल्या था एक समय ऋषि गौतम के आश्रम क्षेत्र में 100 वर्षों तक बड़ा भयानक अकाल पड़ा. जिसकी वजह से वहां के निवासी महान दुख में पड़ गए यह देखकर ऋषि मुनि मनुष्य पशु पक्षी वहां से दूसरी जगह जाने लगे व्याकुल होकर गौतम…

shri kashi vishwanath Vishveshwar Jyotirlinga ki katha

shri kashi vishwanath Vishveshwar Jyotirlinga ki katha

shri kashi vishwanath Vishveshwar Jyotirlinga ki katha in hindi विश्वेश्वर ज्योतिर्लिंग भगवान शिव का यह सातवां ज्योतिर्लिंग है जो उत्तर प्रदेश के काशी में स्थित है शिव पुराण की कोठी रूद्र संहिता में इसकी स्थापना से जुड़ी कथा बताई गई है जिसके अनुसार एक बार भगवान् सदा शिव के मन में एक से दो हो जाने की इच्छा हुई फिर वह सगुण रूप में प्रकट हुए शिव कहलाए और वहीं पुरुष और स्त्री दो रूपों में प्रकट हो गये उनमें जो पुरुष था उसका नाम शिव हुआ और स्त्री शक्ति…