Tectonic plates movement – टेक्टोनिक प्लेट्स का मूवमेंट

Tectonics-plate
क्य धरती पर मौजूद पहाडो की उचाई बढ़ रही हैं ? क्य जमीन खिसक रही है?
कही ऐसा तो नही कि धरती की प्लेटे खिसकने की वजह से पहाडो की उचाई बढ़ रही है चुमबकीय ध्रुव बदल रहा है इन सब के पीछे के कारण को खोजते वैज्ञानिको ने एक ऐसी प्राक्रितिक प्रक्रिया को खोज लिया है जिसे जानकर कोई भी हैरान रह जायेगा धरती के अंदर केंद्र मे मौजूद हिस्सा घूम रहा हैं शायद यही वजह हैं इन सब बद्लावो का 
Tectonic plates movement - टेक्टोनिक प्लेट्स का मूवमेंट


वैज्ञानिको को गहन अध्ययन के बाद इस बात के पुख्ता सबूत मिले है कि धरती का केंद्र यानि कोर घूम रहा हैं. जिसकी वजह से धरती का मैग्रेटिक फील्ड यानि चुम्बकीय छेत्र में बदलाव हो रहा है. इसी वजह से चुम्बकीय उत्तरी ध्रुव कनाडा से खिसक कर साइबेरिया पहुच गया है. 
वैज्ञानिको ने कहा है १९९६ में हमने धरती के कोर में एक छोटा भूकंपीय परिवर्तन देखा था . उसके बाद इस पर गहन अध्ययन करना शुरू किया. 
वैज्ञानिको का कहना है कि उन्होंने अलग-अलग स्थानो पर भूकंप के आने कि दरो का अध्ययन किया. एक ही जगह पर उन्होंने अलग अलग समय का डेटा रिकार्ड किया. तब जाके पता चला कि भूकंप के आने का दर धरती के अन्दर घूम रहे कोर कि वजह से कम ज्यादा हो रहा है .
Due to rotation of the core, the top surface of the earth and the plate collide or slide.

 इससे धरती के ऊपर बने पहाड़ो कि उचाई पर भी प्रभाव पड़ता है. 

भूकंप कि वजह से पैदा हुए भूकंपीय तरंगे धरती कि कोर यानि केंद्र तक जाती है अगर कोर घूमता नहीं रुका रहता तो ये अन्दर तक जा नहीं पति फिर ये तरंगे अन्दर से टकरा कर वापस आती है.
भूकंपीय तरंगो के आने जाने के बिच का समय उनकी दरो से पता चलता हैं कि धरती का केंद्र घूम रहा हैं . धरती के केंद्र में मौजूद गर्म लोहे का केंद्र अगर घूमता नहीं तो हमें ये तरंगे वापस कभी नहीं मिलती ये वाही रुक जाती जो इनर कोर में जाकर वापस लौटती हैं . उनके व्यवहार में बदलाव होता हैं इसकी वजह से धरती के प्लेटो पर असर पड़ता हैं.

Related posts

Leave a Comment