krishna janmashtami puja vidhi – कृष्ण जन्माष्टमी पूजा विधी

Krishna-krishna

श्री कृष्ण जन्माश्ट्मी की पूजा विधि 2020

krishna janmashtami puja vidhi - कृष्ण जन्माष्टमी पूजा विधी

कृष्ण पूजा के लिए आवश्यक सामग्री है.
एक चौकी, चौकी के लिए लाल वस्त्र, बाल कृष्ण की मूर्ति या चित्र, एक सिंहासन, पंचामृत, गंगाजल, दीपक, घी और धूपबत्ती, अष्टगंध चंदन या रोली, अक्षत यानि कच्चा साबुत चावल, तुलसी. माखन, मिश्री व अन्य भोग सामग्री श्रृंगार सामग्री इत्र और फूल माला इत्यादि.

पूजा विधि –  विधान:
चौकी पर लाल कपड़ा बिछा लीजिए भगवान कृष्ण की मूर्ति चौकी पर एक पात्र में रखे और दीपक जलाए और साथ ही धूप बत्ती भी जला लीजिए. Lord Krishna से प्रार्थना कीजिये कि “हे भगवान कृष्ण कृपया पधारें और पूजा ग्रहण कीजिए” “श्री कृष्ण” को पंचामृत से स्नान कराये फिर गंगाजल से स्नान करवाये श्रीकृष्ण को वस्त्र पहनाये आसन पर बैठाकर कृष्ण जी का श्रंगार कीजिए इसके बाद पंचोपचार पूजा कीजिए.

 सबसे पहले भगवान कृष्ण को दीपक दिखाइए इसके बाद दूध दिखाइए अष्टगंध चंदन या रोली का तिलक लगाइए और साथ ही अक्षत यानि चावल भी अलग से लगाइए माखन मिश्री और अन्य भोग सामग्री अर्पण कीजिए तुलसी का पत्ता विशेष रूप से अर्पण कीजिए पीने के लिए गंगा जल अर्पण कीजिए चित्रण कीजिए और फिर फूल माला और फूल अर्पण कीजिए अब श्री कृष्ण का  ध्यान इस प्रकार कीजिए श्री कृष्ण बच्चे के रूप में पीपल के पत्ते पर लेटे हुये हैं उनके शरीर में अनंत ब्रह्मांड हैं और वे अंगूठा चूस रहे हैं इसके साथ ही Shri Krishn के नाम का अर्थ सहित बार-बार चिंतन अथवा विचार  कीजिए कृष का अर्थ (Meaning) है आकर्षित करना (Attract) और ना का अर्थ है परमानंद अथवा पूर्ण मोक्ष (salvation) इस प्रकार कृष्ण का अर्थ (तात्पर्य) है वह जो परमानंद या पूर्ण मोक्ष की ओर आकर्षित करता है वही “Krishn” है.  “मैं उन श्री कृष्ण को कोटि – कोटि नमन करता हूं” वह मुझे अपने चरणों में सदेव बनाये रखे  और अपनी अनन्य भक्ति प्रदानकरे.

विसर्जन के लिए हाथ में फूल और चावल लेकर चौकी पर छोड़ें और कहें हे भगवान कृष्ण पूजा में पधारने के लिए अनेको धन्यवाद कृपया मेरी पूजा और जप ग्रहण कीजिए और अपने निज धाम को पधारे इस प्रकार यह कृष्ण पूजा जन्माष्टमी (Janmashtami) के दिन और रोजाना भी कर सकते.
यह कृष्ण पूजा भगवान के श्री चरणों में भक्ति की वृद्धि करती है और परमानंद प्रदान करती है.

Related posts

2 Thoughts to “krishna janmashtami puja vidhi – कृष्ण जन्माष्टमी पूजा विधी”

  1. Jai Sri Krishna. Nice article

Leave a Comment